ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Budget 2024: क्या छूटा, क्या पाया? बजट पर अर्थशास्त्रियों का एनालिसिस

सरकार ने फिस्कल कंसोलिडेशन की राह पर आगे बढ़ते हुए पूंजीगत व्यय पर जोर देना जारी रखा है.
NDTV Profit हिंदीपल्लवी नाहाटा
NDTV Profit हिंदी11:48 AM IST, 02 Feb 2024NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने गुरुवार को अंतरिम बजट 2024 पेश किया. FY25 के लिए पूर्ण बजट (full budget) आम चुनाव के बाद पेश किया जाएगा, सीतारमण ने कुछ बड़े ऐलान किए और अगले वित्त वर्ष के लिए सरकार के रोडमैप की एक झलक पेश की.

सरकार ने फिस्कल कंसोलिडेशन की राह पर आगे बढ़ते हुए पूंजीगत व्यय पर जोर देना जारी रखा है.

फिस्कल कंसोलिडेशन का सफर

बैंक ऑफ बड़ौदा के चीफ इकोनॉमिस्ट मदन सबनवीस ने कहा कि बजट में सरकार ने फिस्कल डेफिसिट का टारगेट FY25 के लिए 5.1% रखा है. ये देखते हुए कि सरकार FY24 के लिए फिस्कल के रेश्यो को 5.9% के बजाय 5.8% पर बनाए रखने में सक्षम थी. भले ही ये कम था, लेकिन ये एक व्यावहारिक लक्ष्य जैसा दिखता है. उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि FY26 में 4.5% का लक्ष्य हासिल कर लिया जाएगा'.

नोमुरा की चीफ इकोनॉमिस्ट सोनल वर्मा कहती हैं कि ये प्री-इलेक्शन बजट नहीं था, बजट भाषण में प्रमुख मतदाता घटकों के बारे में बहुत सारी बातें की गईं, लेकिन इसमें वित्तीय कंसोलिडेशन को प्राथमिकता देने का विकल्प चुना गया है. ये स्थिरता के लिए अच्छा संकेत है और रिजर्व बैंक भी इसे पॉजिटिव तरीके से लेगा.

DSP म्यूचुअल फंड के मार्केट स्ट्रैटेजिस्ट साहिल कपूर ने कहा, बजट में निगेटिव वित्तीय प्रभाव है. ग्रॉस फिस्कल डेफिसिट 49,000 करोड़ रुपये कम हो गया है और प्राइमरी घाटा 1.8 लाख करोड़ रुपये कम हो गया है.

नेट टैक्स रेवेन्यू: 12% ग्रोथ का अनुमान

BE2024-25 के लिए नॉमिनल GDP का अनुमान 3,27,71,808 करोड़ रुपये रखा गया है, जो FY24 के पहले एडवांस अनुमान से 10.5% ज्यादा है.

एमके इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज की प्रमुख अर्थशास्त्री माधवी अरोड़ा ने कहा, टैक्स ग्रोथ में आसानी के बावजूद, संरचनात्मक रूप से ऊंचे टैक्स बेस से मदद मिलने पर ग्रॉस टैक्स/GDP रेश्यो FY25 में बढ़कर 11.7% की ऊंचाई पर पहुंचने की संभावना है.

अरोड़ा ने कहा कि सरकार ने वित्त वर्ष 2025 में 10.5% की नॉमिनल GDP ग्रोथ के मुकाबले 11% की टैक्स ग्रोथ का अनुमान लगाया है, जिसका मतलब है कि वित्त वर्ष 2024 में सभी क्षेत्रों में मजबूत टैक्स ग्रोथ के बाद कम टैक्स ग्रोथ होगी.

नेट टैक्स रेवेन्यू करीब 12% बढ़कर 26 लाख करोड़ रुपये होने की उम्मीद है.

व्यय: 6% ग्रोथ का अनुमान

FY25 के लिए व्यय (expenditure ) में 6% की ग्रोथ के साथ 47.66 लाख करोड़ रुपये होने की उम्मीद है. साहिल कपूर ने कहा, ये आठ साल में सबसे कम ग्रोथ है और 8 साल के औसत 12.4% के आधे से भी कम है.

FY25 में कैपेक्स 16.9% बढ़कर 11.11 लाख करोड़ रुपये हो जाएगा, जिससे कैपेक्स-टू-GDP रेश्यो 3.4% तक बढ़ जाएगा.

नोमुरा के वर्मा ने कहा, FY25 में कैपेक्स में ग्रोथ की रफ्तार थोड़ी धीमी हो जाएगी, लेकिन इसकी उम्मीद थी. उन्होंने कहा, पिछले 2-3 वर्षों में, प्राइवेट कैपेक्स काफी कमजोर था, इसलिए सार्वजनिक कैपेक्स में बढ़ोतरी हुई है. अब, प्राइवेट कैपेक्स में तेजी आने की संभावना है.

उन्होंने कहा कि 'हम धारणाओं को कुल मिलाकर उचित मानते हैं, नॉमिनल GDP ग्रोथ का अनुमान 10.5% है, विनिवेश लक्ष्य 50,000 करोड़ रुपये तय किया गया है. ग्रॉस टैक्स रेवेन्यू में साल-दर-साल 11.5% की ग्रोथ का अनुमान है और सब्सिडी 3.8 लाख करोड़ रुपये है.'

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT