ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Budget 2024: बजट से भारत बनेगा विकसित देश, बाजार के जानकारों ने ग्रोथ बढ़ने की जताई उम्मीद

बजट में मैक्रो फैक्टर्स को मजबूत बनाने पर फोकस रखा गया है. इनमें इंफ्रा, कृषि, घरेलू पर्यटन और कम वित्तीय घाटे पर फोकस रखना शामिल. इस बजट पर शेयर बाजार के एक्सपर्ट्स क्या कह रहे हैं. आइए जान लेते हैं.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी07:07 PM IST, 01 Feb 2024NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

इस बार के अंतरिम बजट की शेयर बाजार (Share Market) के एक्सपर्ट्स ने जमकर तारीफ की है. उनका मानना है कि ये बजट देश को बेहतर ग्रोथ में मदद करेगा.

आदित्य बिड़ला सन लाइफ AMC के मैनेजिंग डायरेक्टर और CEO ए बालासुब्रमण्यम ने कहा कि 'वित्त मंत्री की ओर से पेश किए गए बजट में फिस्कल कंसोलिडेशन, इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च, खपत और कैपिटल एक्सपेंडिचर पर फोकस है. सरकार फिस्कल कंसोलिडेशन के रास्ते पर आगे बढ़ रही है. एग्री इकोनॉमी पर फोकस से खपत के भी बढ़ने की उम्मीद है. सरकार की ओर से कैपिटल एक्सपेंडिचर देश की कुल ग्रोथ में मदद करता रहेगा.'

सही दिशा में है बजट: सौरभ मुखर्जी

सौरभ मुखर्जी, फाउंडर, Marcellus Investment Managers ने कहा कि 'फ्री मार्केट को पसंद करने वाले व्यक्ति जैसे मेरे लिए ये बजट काफी अच्छा रहा. प्राइवेट मार्केट कैपेक्स को बढ़ाने की जरूरत है. देश की नजर से देखें, तो ये बजट सही दिशा में है. RBI के लिए चुनाव से पहले एक और बार रेपो रेट में कटौती नहीं करना मुश्किल है.'

मनीष डांगी, फाउंडर, Macro Mosaic Investing ने कहा कि 'बजट में फिस्कल कंसोलिडेशन पर बहुत ज्यादा ध्यान दिया गया है. बजट ज्यादा मॉनिटरी पॉलिसी एक्शन के रास्ते को मजबूत करता है. 5.1% फिस्कल डेफिसिट मॉनिटरी पॉलिसी के लिए रास्ता आसान करता है.'

मैक्रो फैक्टर्स मजबूत करने पर फोकस: प्रदीप गुप्ता

आनंद राठी ग्रुप के को-फाउंडर और वाइस चेयरमैन प्रदीप गुप्ता के मुताबिक 'वित्त मंत्री ने घरेलू मैक्रो फैक्टर्स को मजबूत बनाने पर फोकस रखा है. इनमें इंफ्रा, कृषि, घरेलू पर्यटन और कम वित्तीय घाटे के साथ वित्तीय जिम्मेदारी पर फोकस रखना शामिल है. ये विदेशी निवेशकों के लिए अच्छी खबर है. कम बजट डेफेसिट और कर्ज में कटौती से यील्ड्स को घटाने में मदद मिलेगी. इससे रेटिंग्स बढ़ाने का भी रास्ता खुल सकता है.'

येस सिक्योरिटीज के MD और CEO अंशुल अरजारे ने कहा कि 'अंतरिम बजट में 2047 तक विकसित भारत बनाने की तैयारी की गई है. इसमें पिछड़े, महिलाएं, युवा और किसानों पर फोकस किया गया है. बजट में असमानता को दूर करने की कोशिश की गई है जिससे भारत पांच ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी की तरफ आगे बढ़ सके. सरकार ने FY25 तक 5.1% वित्तीय घाटे का लक्ष्य रखा है. सरकार ने FY25 तक 5.1% के वित्तीय घाटे का लक्ष्य रखा है. 596 बिलियन डॉलर की FDI भारत की अर्थव्यवस्था में दुनिया का भरोसा बताती है.'

बाजार की उम्मीद के मुताबिक बढ़िया रहा बजट: विजय केडिया

केडिया सिक्योरिटीज के MD विजय केडिया ने कहा कि 'बजट अच्छा था. ये बजट अंतरिम बजट था और बाजार की उम्मीद के मुताबिक बढ़िया रहा. बजट में वित्त मंत्री ने आगे की दिशा रखी. जो बाजार के लोग समझ रहे थे और बजट में जो पेश किया गया उसमें तालमेल था. वित्त मंत्री ने बजट में जो भी नाम लिए जैसे रिन्यूएबल एनर्जी, हाइड्रोजन, एयरपोर्ट, टूरिज्म, PSU, रेलवे और डिफेंस. इन सभी सेक्टर्स में पिछले 1 साल से बाजार बुलिश रहा है. इसका मतलब है कि बाजार सरकार की नब्ज समझता है और सरकार ने भी बाजार की नब्ज पकड़ी है.'

उन्होंने आगे कहा कि 'बाजार के लिए सभी संकेत अच्छे हैं. GST कलेक्शन से लेकर राजनीतिक हालात बाजार को अच्छे संकेत दे रहे हैं. जब तक कोई बाहरी संकेत नहीं आता उस समय तक बाजार के सामने कोई दिक्कत नहीं है.'

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT