ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

TCS का छंटनी का इरादा नहीं, स्टार्टअप कंपनियों से निकाले गए कर्मचारियों को करेगी हायर, जानें डिटेल्स

Tech Layoffs: टेक कंपनियों में लगातार हो रही छंटनी के बीच टीसीएस (TCS) स्टार्टअप कंपनियों के उन कर्मचारियों की नियुक्ति करने जा रही है जो अपनी नौकरी गंवा चुके हैं.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit Desk
NDTV Profit हिंदी05:03 PM IST, 19 Feb 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

Tech Layoffs : दुनिया भर की टेक कंपनियां इन दिनों अपने कर्मचारियों की छंटनी कर रही हैं. वहीं, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (Tata Consultancy Services) यानी टीसीएस (TCS) ने कर्मचारियों की छंटनी को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. कंपनी का कहना है कि कर्मचारियों की छंटनी का हमारा कोई इरादा नहीं है. कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि टीसीएस में हम प्रतिभाओं को लंबे करियर के लिए तैयार करते हैं.

टीसीएस के एचआर हेड ऑफिसर मिलिंद लक्कड़ (Milind Lakkad) ने पीटीआई-भाषा से कहा कि कंपनी स्टार्टअप कंपनियों (Startup Companies) के उन कर्मचारियों की नियुक्ति करने जा रही है जो अपनी नौकरी गंवा चुके हैं. उनका यह बयान ऐसे समय आया है जबकि दुनियाभर की बड़ी आईटी कंपनियां ( IT Companies) कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा रही हैं. उन्होंने कहा,‘‘हम छंटनी (Lays Offs) में विश्वास नहीं रखते हैं, हम प्रतिभाओं को आगे बढ़ाते हैं.''

उन्होंने कहा कि कई कंपनियों को इस तरह का कदम इसलिए उठाना पड़ रहा है क्योंकि उन्होंने जितना चाहते थे उससे अधिक लोगों को काम पर रख लिया. वहीं इस मामले में ‘सतर्क' टीसीएस से जब कोई कर्मचारी जुड़ जाता है, तो यह कंपनी की जिम्मेदारी होती है कि वह उन्हें ‘प्रोडक्टिव' बनाए.

मिलिंद लक्कड़ ने कहा कि कई बार ऐसी स्थिति आती है जबकि कर्मचारी के पास मौजूद स्किल हमारी जरूरत से कम होती है. ऐसी स्थिति में हम कर्मचारी को समय देते हैं और उसे ट्रेनिंग देते हैं. टीसीएस के कर्मचारियों की संख्या छह लाख से अधिक है. लक्कड़ ने कहा कि कंपनी इस बार भी कर्मचारियों को पिछलो साल के बराबर सैलरी इंक्रीमेंट (Salary Increment) देगी.

आपको बता दें कि अल्फाबेट, अमेज़ॉन, मेटा, ट्विटर , माइक्रोसॉफ्ट और सेल्सफोर्स सहित प्रमुख टेक कंपनियों से बड़ी संख्या में कर्मचारियों को निकाल दिया गया है. टेस्ला, नेटफ्लिक्स, रॉबिन हुड, स्नैप, कॉइनबेस और स्पॉटिफ़ाई सहित अन्य कंपनियां भी इस सूची में शामिल हैं .


 

NDTV Profit हिंदी
लेखकNDTV Profit Desk
NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT