ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Adani Ports वियतनाम में कर सकती है $3 बिलियन का निवेश, एनर्जी और लॉजिस्टिक्स पर भी फोकस

अदाणी पोर्ट्स के CEO करण अदाणी ने कहा, पोर्ट्स और लॉजिस्टिक्स सेक्टर के साथ ही कंपनी एनर्जी सेक्टर और डिजिटल टेक्नोलॉजी पर भी काम करेगी.
NDTV Profit हिंदीमंगलम मिश्र
NDTV Profit हिंदी09:04 PM IST, 24 May 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन (Adani Ports & SEZ) वियतनाम में पोर्ट्स और ग्रीन एनर्जी में 3 बिलियन डॉलर यानी करीब 25 हजार करोड़ रुपये का निवेश करने पर विचार कर रही है. वियतनाम सरकार ने ये जानकारी दी है.

बुधवार को अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड के CEO करण अदाणी ने वियतनाम के प्रधानमंत्री फान मिन्ह चिन्ह से मुलाकात की और वियतनाम (Vietnam) में निवेश को लेकर चर्चा की.

करण अदाणी ने कहा कि कंपनी ने वियतनाम में लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए रिसर्च की है और कई नए अवसरों को तलाशा है. पोर्ट्स और लॉजिस्टिक्स सेक्टर के साथ ही कंपनी एनर्जी सेक्टर और डिजिटल टेक्नोलॉजी पर भी काम करेगी.

अदाणी पोर्ट्स, वियतनाम में समुद्री पोर्ट्स के इकोसिस्टम के साथ ही विंड पावर और सोलर पावर प्रोजेक्ट में कुल $3 बिलियन का निवेश करेगी.
करण अदाणी, CEO, अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन

वियतनाम के प्रधानमंत्री ने कहा, 'कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण बदलाव की जरूरत है, खासकर इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के क्षेत्र में. वियतनाम, अदाणी ग्रुप के साथ ही भारत की बड़ी कंपनियों को यहां निवेश करने और बिजनेस करने के लिए परिस्थितियों को बेहतर करने के लिए तैयार है.'

प्रधानमंत्री फान मिन्ह चिन्ह ने कहा कि भारत के वियतनाम के साथ सौहार्दपूर्ण और मित्रता भरे व्यापारिक रिश्ते हैं. हाल ही में उन्होंने जापान में प्रधानमंत्री मोदी के साथ मुलाकात का जिक्र किया और भारत के साथ कई दिशाओं में सहयोग बढ़ाने पर हुई चर्चा के बारे में भी बताया.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT