ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

अदाणी टोटल गैस, आइनॉक्स इंडिया के बीच बड़ा समझौता, LNG इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम करेंगी कंपनियां

INOXCVA LNG समेत दूसरी औद्योगिक गैस के स्टोरेज, डिस्ट्रीब्यूशन और ट्रांसफर के लिए स्टैंडर्ड और कस्टमाइज्ड इक्विपमेंट की मैन्युफैक्चरिंग करती है.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी09:58 PM IST, 05 Feb 2024NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

अदाणी टोटल गैस (Adani Total Gas) ने सोमवार को आइनॉक्स इंडिया (INOXCVA) के साथ समझौते का ऐलान किया. ये डील देश में लिक्विफाइड नेचुरल गैस इक्विपमेंट और सेवाओं के लिए की गई है, जिनमें छोटे स्तर के LNG प्लांट्स और LNG स्टेशन बनाना शामिल हैं. समझौते के तहत अदाणी टोटल गैस और आइनॉक्स की यूनिट INOXCVA LNG और LCNG इक्विपमेंट और सर्विस की डिलीवरी के लिए प्रिफर्ड पार्टनर स्टेटस रहेगा.

क्या काम करती है INOXCVA?

INOXCVA LNG समेत दूसरी औद्योगिक गैस के स्टोरेज, डिस्ट्रीब्यूशन और ट्रांसफर के लिए स्टैंडर्ड और कस्टमाइज्ड इक्विपमेंट की मैन्युफैक्चरिंग करती है. LNG नेचुरल गैस है जिसे कूल करके लिक्विड स्टेट में लाया जाता है. इसे करीब -260° Fahrenheit पर लाया जाता है जिससे शिपिंग, स्टोरेज के लिए इस्तेमाल किया जा सके.

इसे गैस की स्टेट में वापस लाया जाता है और फिर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों, इंडस्ट्रीयल कंज्यूमर्स और पावर प्लांट्स ट्रांसपोर्ट करती हैं. इस प्रक्रिया को रि-गैसिफिकेशन कहा जाता है.

समझौते से क्या फायदे होंगे?

अदाणी टोटस गैस ने कहा कि समझौते के तहत कुछ प्रोजेक्ट लेवल बेनेफिट्स मिलेंगे. इनमें एडवांस्ड शेड्यूलिंग का एक्सेस, LNG/LCNG स्टेशनों, LNG सैटलाइट स्टेशनों को शुरू करने के लिए कोलेबोरेटिव अपॉरचुनिटीज, ट्रांसपोर्ट फ्यूल के तौर पर LNG में ट्रांजिशन, LNG लॉजिस्टिक्स के साथ इंडस्ट्री के लिए छोटे स्तर के लिक्विड हाइड्रोजन सॉल्यूशंस डेवलप करना शामिल होगा.

अदाणी टोटल गैस के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर और चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर सुरेश पी मंगलानी ने कहा कि INOXCVA के साथ इस समझौते से ATGL को लंबी अवधि के भारी वाहनों, मौजूदा HSD/ डीजल का LNG में चरणबद्ध तरीके से ट्रांजिशन करने में मदद मिलेगी. इससे CO2 और GHG एमिशन में 30% से ज्यादा कटौती करने में भी मदद मिलेगी.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT