ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Byju's की 'आकाश' अगले साल लाएगी IPO, जानिए क्या है कंपनी का प्लान?

बायजूज अपनी सब्सिडियरी आकाश एजुकेशन सर्विसेज लिमिटेड का IPO अगले साल के मध्य तक लेकर आएगी.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी03:55 PM IST, 05 Jun 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

एडटेक कंपनी बायजूज (Byju's) अपनी सब्सिडियरी आकाश एजुकेशन सर्विसेज (Aakash Education Services Ltd) का IPO अगले साल के मध्य तक लेकर आएगी. PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने सोमवार को ये जानकारी दी है.

कंपनी ने एक बयान में कहा है कि - आकाश एजुकेशन सर्विसेज का रेवेन्यू FY2023-24 में 4,000 करोड़ रुपये तक पहुंचने वाला है. वहीं, कंपनी का Ebitda 900 करोड़ रहने की उम्मीद है.

जल्द होगा मर्चेंट बैंकर्स का ऐलान

बायजूज ने एक बयान में कहा कि कंपनी अपनी सब्सिडियरी आकाश एजुकेशन सर्विसेज लिमिटेड का IPO अगले साल के मध्य तक लेकर आएगी. बायजूज के बोर्ड ने IPO के लिए अपनी ओर से आधिकारिक मंजूरी दे दी है. उसके मुताबिक, IPO के लिए मर्चेंट बैंकर्स की नियुक्ति का ऐलान जल्द किया जाएगा, अगले साल इसकी लिस्टिंग करने की योजना है.

बयान में कहा गया है कि आने वाले IPO से आकाश के इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने के लिए पर्याप्त कैपिटल मिलेगा. इसके अलावा कंपनी ने बताया कि इससे उसकी पहुंच बढ़ेगी और देश भर में बड़ी संख्या में छात्रों को अच्छी गुणवत्ता की टेस्ट प्रेप एजुकेशन दी जा सकेगी. बायजूज ने करीब 950 मिलियन डॉलर या 7,100 करोड़ रुपये में अप्रैल 2021 में आकाश एजुकेशन सर्विसेज लिमिटेड का अधिग्रहण किया था.

आकाश के रेवेन्यू में तेज इजाफा

अधिग्रहण के बाद से, आकाश के रेवेन्यू में पिछले दो सालों के दौरान तीन गुना बढ़ोतरी देखने को मिली है. Ken रिसर्च के मुताबिक, टेस्ट प्रेप मार्केट का रेवेन्यू 2020 से 2025 के दौरान 9.3% की कंपाउंड सालाना ग्रोथ रेट के साथ बढ़ने का अनुमान है. इसमें ऑनलाइन टेस्ट प्रिप्रेशन सेगमेंट सबसे आगे रहेगा, जिसके इसी अवधि के दौरान 42.3% CAGR ग्रोथ की उम्मीद है.

बयान में कहा गया है कि आकाश अपनी ऑफरिंग की कॉम्प्रिहैन्सिव रेंज की वजह से अच्छी ग्रोथ करेगी. उसने बताया कि इसमें क्लासरूम बेस्ड लर्निंग के साथ इंजीनियरिंग और मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम के लिए खास तौर पर तैयार किए गए बेहतरीन डिजिटल प्रोडक्ट्स और सर्विसेज शामिल हैं. वर्तमान में, आकाश के देश भर में 325 से ज्यादा सेंटर्स मौजूद हैं, जो चार लाख से ज्यादा छात्रों को सेवाएं देते हैं.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT