ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Byju's ने इधर $1 बिलियन की फंडिंग का प्लान बनाया, उधर Prosus ने वैल्यूएशन एक चौथाई की

कंपनी, लेंडर्स के साथ 1.2 बिलियन डॉलर के कर्ज पर कानूनी लड़ाई में भी फंसी है. वित्तीय स्थिति में सुधार का हवाला देकर कंपनी में बड़े पैमाने पर छंटनी की जा रही है.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी07:08 PM IST, 27 Jun 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

मुश्किलों में फंसी एडटेक कंपनी Byju's ने शेयरधारकों के विद्रोह से बचने लिए नया रास्ता खोजा है. ब्लूमबर्ग की खबर के मुताबिक Byju’s, नए निवेशकों से $1 बिलियन की फंडिंग जुटाने के लिए बातचीत कर रही है. मामले की जानकारी रखने वाले एक व्‍यक्ति ने पहचान जाहिर न करने की शर्त पर ब्लूमबर्ग को बताया 'कंपनी नए निवेशकों को रिझाने के लिए कई लुभावने वादे कर रही है जिसमें शेयरों पर दिया जाने वाला प्रेफरेंशियल ट्रीटमेंट भी शामिल है. कंपनी पिछले कुछ महीनों से फ्रेश कैपिटल जुटाने पर काम कर रही है और ऐसी उम्मीद है कि 2 हफ्तों के अंदर फंडिंग का ये राउंड पूरा हो सकता है'.

प्रोसस ने घटाई Byju's की वैल्यूएशन

Byju's में निवेश करने वाले नीदरलैंड की निवेशक फर्म प्रोसस ने कंपनी की वैल्यूएशन $5.14 बिलियन कर दी है. ध्यान देने की बात ये है कि ये घटी हुई वैल्यूएशन Byju's के एक साल पहले के $22 बिलियन के वैल्यूएशन का महज एक चौथाई है. आपको बता दें कि प्रोसस ने Byju's में 2018 से ही $536 मिलियन निवेश किया हुआ है और 9.6% हिस्सेदारी होल्ड करता है.

आपको बता दें कि Byju's, लेंडर्स के साथ 1.2 बिलियन डॉलर के कर्ज पर कानूनी लड़ाई में फंसी है. जून की शुरुआत में ही कंपनी ने लोन पर ब्याज का भुगतान नहीं किया और न्यूयॉर्क में एक केस फाइल करते हुए निवेशकों के एक समूह पर आरोप लगाया कि उन्होंने फर्जी कर्ज संकट की स्थिति बनाई ताकि कंपनी से पैसे की उगाही की जा सके.

इसके पहले ब्लूमबर्ग की ही एक खबर के मुताबिक, Byju’s के फाउंडर बायजू रवींद्रन (Byju Raveendran) ने निवेशकों से सीधे बात की है और ये भरोसा दिलाया है कि कंपनी जल्द ही अपनी फाइनेंशियल रिपोर्ट्स जारी करेगी और अपने अकाउंटिंग सिस्टम को भी मजबूत करेगी.

ऑडिटर और बोर्ड मेंबर्स का इस्तीफा

इसके पहले कंपनी के ऑडिटर डेलॉयट (Deloitte) ने वित्तीय रिपोर्टिंग में देरी का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया था और साथ ही 3 अहम बोर्ड मेंबर्स ने भी अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया था. इसके बाद Byju’s ने MSKA & Associates को नया ऑडिटर नियुक्त किया है.

मुश्किलों का दौर

Byju’s के लिए बीता एक साल काफी उथल-पुथल भरा रहा है. कई अहम निवेशकों ने कंपनी का वैल्यूएशन घटाया है. कंपनी, लेंडर्स के साथ 1.2 बिलियन डॉलर के कर्ज पर कानूनी लड़ाई में भी फंसी है. वित्तीय स्थिति में सुधार का हवाला देकर कंपनी में बड़े पैमाने पर छंटनी की जा रही है. कंपनी ने छंटनी के नए दौर में 1,000 कर्मचारियों को निकालने का ऐलान किया है. हाल में कई कर्मचारियों ने सोशल मीडिया पर छंटनी के तरीके पर नाराजगी जताई है. आपको बता दें कि सबसे आखिरी फंडिंग राउंड में Byju’s की वैल्यूएशन $22 बिलियन दिखाई गई थी.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT