ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Byju's की नई मुसीबत; अब ऑडिटर डेलॉयट ने खुद को किया अलग, बताई ये वजह

डेलॉयट के मुताबिक, इस देरी के चलते ऑडिटिंग के तय पैमानों के हिसाब से ऑडिट प्लान, इसकी प्रक्रिया को आगे बढ़ाने और इसे पूरा करने की क्षमताओं पर गंभीर असर पड़ेगा.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी08:28 PM IST, 22 Jun 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

एडटेक कंपनी Byju's की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रहीं. अब कंपनी के ऑडिटर डेलॉयट हासकिंस एंड सेल्स (Deloitte Haskins & Sells) ने तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया है. डेलॉयट ने इस्तीफे की वजह Byju's के फाइनेंशियल रिजल्ट की फाइलिंग में हो रही देरी को बताया है.

Byju's की पेरेंट कंपनी थिंक एंड लर्न प्राइवेट लिमिटेड के बोर्ड मेंबर्स को लेटर में संबोधित करते हुए डेलॉयट ने खुद को कंपनी की ऑडिटिंग से अलग कर लिया है.

चिट्ठी में डेलॉयट की तरफ से कहा गया है, '31 मार्च 2022 को खत्म हुए वित्त वर्ष के फाइनेंशियल स्टेटमेंट लंबे वक्त से लंबित हैं.....31 मार्च, 2022 को खत्म हुए वित्त वर्ष से संबंधित रिकॉर्ड्स, ऑडिट रिपोर्ट मॉडिफिकेशन, अंडरलाइंग बुक्स और फाइनेंशियल स्टेटमेंट की ऑडिट रेडीनेस पर हमें कोई जवाब नहीं दिया गया और हम तय तारीख पर ऑडिट शुरू करने में नाकाम रहे.'

डेलॉयट के मुताबिक, इस देरी के चलते ऑडिटिंग के तय पैमानों के हिसाब से ऑडिट प्लान, इसकी प्रक्रिया को आगे बढ़ाने और इसे पूरा करने की क्षमताओं पर गंभीर असर पड़ेगा.

डेलॉयट ने आगे कहा, 'ऊपर बताई स्थितियों के चलते, हम तत्काल प्रभाव से कंपनी के वैधानिक ऑडिटर के पद से इस्तीफा दे रहे हैं.'

डेलॉयट को 5 साल के लिए 1 अप्रैल, 2020 को Byju's का ऑडिटर नियुक्त किया गया था. डेलॉयट का कार्यकाल 31 मार्च, 2025 को पूरा होना था. Byju's ने अब MSKA & Associates को नया ऑडिटर नियुक्त किया है.

बीते कुछ समय में Byju's को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है. कई अहम निवेशकों ने कंपनी का वैल्यूएशन कम कर दिया है. इसके अलावा कंपनी, लेंडर्स के साथ 1.2 बिलियन डॉलर के कर्ज पर कानूनी लड़ाई में भी फंसी है. Byju's में वित्तीय स्थिति में सुधार के लिए बड़े पैमाने पर छंटनी की जा रही है. जिसकी वजह से कंपनी को काफी निगेटिव पब्लिसिटी का सामना करना पड़ा है.

Byju's से पिछले एक साल में लगभग 2,500 लोगों को नौकरियों से निकाला जा चुका है. अब छंटनी के नए दौर में 1,000 कर्मचारियों को निकालने का ऐलान किया गया है. हाल में कई कर्मचारियों ने सोशल मीडिया पर छंटनी के तरीके पर नाराजगी जताई थी.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT