ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

पेटीएम पर RBI के प्रतिबंधों के बाद यूजर्स के पास क्या रास्ते हैं? वॉलेट बंद कर दें या जारी रखें?

अच्छी खबर ये है कि यूजर्स बिना किसी रुकावट के सहज ट्रांजिशन सुनिश्चित कर सकते हैं क्योंकि न केवल जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त समय है बल्कि वॉलेट में पैसों के इस्तेमाल को लेकर कोई प्रतिबंध नहीं है.
NDTV Profit हिंदीअर्णव पंड्या
NDTV Profit हिंदी10:31 AM IST, 10 Feb 2024NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

पेटीएम वॉलेट (Paytm Wallet) के बहुत सारे यूजर्स हैं, क्योंकि ये कई तरह के भुगतान करने के लिए डिजिटल विकल्प देता है. पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के हालिया प्रतिबंधों ने इनमें से कई यूजर्स को को इस बात को लेकर चिंतित कर दिया है कि उन्हें अपना कामकाज किस तरीके से पूरा करना होगा.

पेटीएम यूजर्स के लिए साफ रणनीति जरूरी

अच्छी खबर ये है कि यूजर्स बिना किसी रुकावट के सहज ट्रांजिशन सुनिश्चित कर सकते हैं क्योंकि न केवल जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त समय है बल्कि वॉलेट में पैसों के इस्तेमाल को लेकर कोई प्रतिबंध नहीं है. उनके लिए एक साफ रणनीति बनाना जरूरी है, ताकि वो अपने पैसों तक पहुंच रख सकें और उनका लेनदेन सुचारू रूप से जारी रहे. यहां कुछ रणनीतियां दी गई हैं जिनका इस्तेमाल इस खास मकसद के लिए किया जा सकता है.

डेडलाइन तक सामान्य इस्तेमाल जारी रखें

ये एक ऐसी रणनीति है जहां वॉलेट में एक्टिविटी 29 फरवरी, 2024 तक रकम लोड करने और खर्च करने के मामले में सामान्य रूप से जारी रहती है, इसके बाद रिजर्व बैंक के प्रतिबंध लागू होते हैं. किसी व्यक्ति के लिए इस बात को भी समझना जरूरी है कि वो प्रतिबंध आखिर में हैं क्या.

RBI ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक से कहा है कि इस तारीख के बाद ग्राहकों की कोई नए ग्राहक नहीं जोड़ना चाहिए और साथ ही पेमेंट्स बैंक में डिपॉजिट लेने की भी इजाजत नहीं है. इसका मतलब ये है कि खातों में कोई नया पैसा नहीं आ सकेगा. ऐसे में यूजर्स ये सुनिश्चित कर सकता है कि वे इस समय तक अपने इस्तेमाल के लिए एक योजना या किसी दूसरे विकल्प के बारे में सोच ले. इस दौरान, वो वॉलेट का सामान्य इस्तेमाल जारी रख सकते हैं, वॉलेट में पैसे जोड़ सकते हैं और उनका इस्तेमाल कर सकते हैं, और ऐसा करते हुए अंत में रकम को जीरो कर सकते हैं.

कितने समय तक रकम का इस्तेमाल किया जाना है, उस पर कोई रोक नहीं है, इसलिए ये फरवरी के अंत के बाद भी जारी रह सकता है.

बैंक ट्रांसफर या इस्तेमाल करके वॉलेट को खाली करें

दूसरी तरह की रणनीति जिसका बहुत सारे जोखिम से बचने वाले यूजर्स इस्तेमाल करना चाहेंगे, वो ये सुनिश्चित करना है कि चूंकि प्रतिबंध लागू होने ही वाले हैं, इसलिए वो वॉलेट का इस्तेमाल करना ही पूरी तरह से बंद कर दें. इसका मतलब ये होगा कि न केवल वो वॉलेट में कोई नया पैसा नहीं जोड़ेंगे बल्कि साथ ही वे मौजूदा रकम को भी निकाल लेंगे.

ये आसानी से किया जा सकता है क्योंकि वॉलेट में मौजूद रकम को उनके बैंक खाते में ट्रांसफर करने की सुविधा वॉलेट देता है, और एक बार ऐसा हो जाने पर बाकी रकम शून्य हो जाती है और जरूरत पड़ने पर उसे बंद भी किया जा सकता है. वॉलेट में मौजूद रकम का इस्तेमाल कई जगहों पर खर्च करके भी किया जा सकता है या इस्तेमाल और बैंक ट्रांसफर दोनों तरह के उपायों से किया जा सकता है.

पैसे जोड़ना बंद करें लेकिन इस्तेमाल करें

तीसरी रणनीति जो अपनाई जा सकती है वो ये है कि यूजर्स वॉलेट में कोई भी नया पैसा जोड़ना बंद कर दे. भले ही नया डिपॉजिट नहीं लेने की डेडलाइन 29 फरवरी, 2024 है, लेकिन यूजर्स इतने लंबे समय तक इंतजार नहीं करना चाहेगा और हो सकता है कि वे वॉलेट में आगे किसी भी तरह का एक्सपोजर बंद करना चाहे. यहां खाते में मौजूदा रकम से निपटना होगा और इसका इस्तेमाल सामान्य लेनदेन के मुताबिक किया जा सकता है. ऐसा हो सकता है कि ऐसी कई जगहें हैं जहां वॉलेट का इस्तेमाल किया जा रहा है और ये लेनदेन तब तक जारी रह सकते हैं जब तक कि बची हुई रकम खत्म न हो जाए. इस बात को ध्यान में रखना चाहिए कि फरवरी के अंत के बाद प्रतिबंध केवल जमा पर है, खर्चों या उसके इस्तेमाल पर नहीं.

वॉलेट से निकासी इस अवधि के बाद भी जारी रह सकती है, इसलिए खर्च करने की कोई समय सीमा नहीं है और इसलिए यूजर्स अपने सामान्य इस्तेमाल के मुताबिक रकम निकाल सकते हैं जब तक कि बची हुई रकम शून्य न हो जाए.

अर्णव पंड्या

(लेखक Moneyeduschool के फाउंडर हैं)

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT