ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

टेस्ला का भारत आने का इरादा, FY24 में भारतीय कंपनियों से खरीद सकती है $1.9 बिलियन के ऑटो पार्ट्स- पीयूष गोयल

टेस्ला FY24 में भारतीय ऑटोमोबाइल कंपोनेंट मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों से $1.9 बिलियन के ऑटो पार्ट्स का इंपोर्ट कर सकती है- पीयूष गोयल
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी10:09 PM IST, 13 Sep 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) के मुताबिक एलन मस्क की कंपनी टेस्ला भारत में आने का इरादा रखती है. इसके अलावा कंपनी भारत से बड़ी मात्रा में ऑटो कंपोनेंट खरीदती है.

गोयल के मुताबिक, टेस्ला (Tesla) वित्त वर्ष 2023-24 में भारतीय कंपनियों से $1.9 बिलियन के ऑटो पार्ट्स खरीद सकती है. गोयल ने ACMA (Automotive Component Manufacturers Association of India) की 63वीं समिट में ये बातें कहीं.

उन्होंने कहा कि पिछले साल ही टेस्ला ने भारतीय कंपनियों से $1 बिलियन के ऑटो कंपोनेंट खरीदे थे. इस साल टेस्ला का टार्गेट $1.7–1.9 बिलियन है.

टेस्ला की टैक्स में कटौती की मांग

पीयूष गोयल ने आगे कहा कि दूसरी भारतीय ऑटो पार्ट्स कंपनियों के साथ चर्चा से पता चला है कि टेस्ला ने भारत आने को लेकर रूचि दिखाई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी भारतीय बाजार में आने के लिए टैक्स कटौती की मांग कर रही थी. दरअसल टेस्ला अपनी इंपोर्टेड कारों पर लगने वाले टैक्स में कमी चाहती है. केंद्र सरकार ने कंपनी को टैक्स कटौती का फायदा देने से पहले लोकल मैन्युफैक्चरिंग की दिशा में काम करने को कहा है.

भारत $40,000 से ज्यादा कॉस्ट, इंश्योरेंस एंड फ्राइट (CIF) वैल्यू वाली इंपोर्टेड कारों पर 100% टैक्स लगाता है. जबकि, उससे कम CIF वैल्यू वाली इंपोर्टेड कारों पर टैक्स 70% है.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT