ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स ने की बिसलेरी को खरीदने की तैयारी, जल्द डील संभव: रिपोर्ट

Tata Consumer-Bisleri Deal: बिसलेरी के चेयरमैन रमेश चौहान ने गुरुवार को कहा कि वह अपने  पैकेज्ड वॉटर के कारोबार ‘बिसलेरी इंटरनेशनल’ के लिए खरीदार की तलाश में हैं और इस बारे में उनकी टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड समेत कई कंपनियों से बात चल रही है.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit Desk
NDTV Profit हिंदी01:19 PM IST, 24 Nov 2022NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, टाटा ग्रुप (Tata Group) की कंपनी टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (TCPL)  पैकेज्ड वॉटर कंपनी बिसलेरी इंटरनेशनल (Bisleri International) को खरीदने जा रही है. इकोनॉमिक टाइम्स ने गुरुवार को पैकेज्ड वॉटर मेकर के चेयरमैन रमेश चौहान का हवाला देते हुए यह जानकारी दी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स 70 अरब रुपये यानी करीब 857.38 मिलियन डॉलर में बिसलेरी (Bisleri) ब्रांड को खरीदेगी. इस डील को लेकर लंबे समय से टाटा ग्रुप और बिसलेरी के बीच बातचीत जारी है. जिसके बाद अब उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही यह डील फाइनल हो सकती है. 

बिसलेरी के चेयरमैन रमेश चौहान ने गुरुवार को कहा कि वह अपने  पैकेज्ड वॉटर के कारोबार ‘बिसलेरी इंटरनेशनल' के लिए खरीदार की तलाश में हैं और इस बारे में उनकी टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड समेत कई कंपनियों से बात चल रही है. लेकिन उन्होंने इस बात से इनकार किया कि टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (टीसीपीएल) के साथ 7,000 करोड़ रुपये में सौदा हो चुका है.

चौहान ने तीन दशक पहले अपने सॉफ्ट ड्रिंक कारोबार को अमेरिकी पेय पदार्थ कंपनी कोका-कोला को बेच दिया था. उन्होंने थम्स अप, गोल्ड स्पॉट, सिट्रा, माजा और लिम्का जैसे ब्रांड 1993 में कंपनी को बेच दिए थे.इसके बाद वह 2016 में फिर से सॉफ्ट ड्रिंक के कारोबार में उतरे लेकिन उनके उत्पाद ‘बिसलेरी पॉप' को उतनी सफलता नहीं मिली

आपको बता दें कि कंज्यूमर के बीच पैकेज्ड वॉटर काफी पॉपुलर हो रहा है. बाजार में खुले में मिलने वाले वॉटर को स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना जाता है. यही वजह है कि नॉर्मल की तुलना में पैकेज्ड वॉटर को पीने के लिए बेहतर माना जाता है. इसे देखते हुए कई एफएमसीजी कंपनियां इस सेंगमेंट में उतर चुकी हैं. कोका-कोला इंडिया की वॉटर ब्रांड किनले, पेप्सिको की एक्वाफिना, पार्ले एग्रो की बेली और इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी)  रेल नीर के माध्यम से इस सेगमेंट में रेस में बनी हुई हैं.

इन सभी को पीछे छोड़ बिसलेरी इस सेंगमेंट में लंबे समय से मार्केट लीडर बना हुआ है. मार्केट रिसर्च एंड एडवाइजरी फर्म TechSci रिसर्च की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2021 में भारतीय पैकेज्ड वॉटर मार्केट 2.43 बिलियन अमेरिकी डॉलर यानी लगभग 19,315 करोड़ रुपये से अधिक का था.

NDTV Profit हिंदी
लेखकNDTV Profit Desk
NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT