ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

कॉल ड्रॉप और खराब क्वालिटी पर DoT सख्त, TRAI को दिए ये निर्देश

TRAI ने 17 फरवरी को दूरसंचार कंपनियों के साथ एक बैठक बुलाई है, जिसमें सर्विस क्वालिटी में सुधार के उपायों और एक्शन प्लान पर बात होगी
NDTV Profit हिंदीमोहम्मद हामिद
NDTV Profit हिंदी11:36 AM IST, 15 Feb 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

देश में बढ़ते कॉल ड्रॉप (Call Drop) और खराब क्वालिटी (Call Quality) को लेकर टेलीकॉम विभाग (DoT) ने टेलीकॉम रेगुलेटर TRAI को निर्देश दिया है कि वो क्वालिटी को सुधारने के लिए नियमों को सख्त करे. आधिकारिक सूत्रों के हवाले से PTI ने ये खबर बताई है.

DoT ने कहा- नियमों को सख्त करें

दरअसल DoT कुछ दिन पहले IVRS कॉल के जरिए लोगों से कॉल ड्रॉप और कॉल की क्वालिटी को लेकर फीडबैक मंगाए थे. सूत्र ने बताया कि DoT ने टेलीकॉम रेगुलेटर से कहा है कि वो सर्विस क्वालिटी को बेहतर करने के लिए नियमों को और सख्त करे. 5G सेवाओं के लॉन्च से कॉल की क्वालिटी में सुधार की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन इसके बजाय लोगों ने सर्विसेज की क्वालिटी की शिकायत शुरू कर दी.

सूत्र ने ये भी बताया कि क्वालिटी ऑफ सर्विसेज (QoS) को लेकर दुनिया भर में क्या सर्वोत्तम चलन है, DoT ने कुछ खास परफॉर्मेंस इंडिकेटर्स को भी देखा. सूत्र के मुताबिक इसी को TRAI के साथ भी साझा किया गया है.

17 फरवरी को TRAI ने बुलाई बैठक

TRAI ने 17 फरवरी को दूरसंचार कंपनियों के साथ एक बैठक बुलाई है, जिसमें सर्विस क्वालिटी में सुधार के उपायों और एक्शन प्लान, नियमों की समीक्षा, 5G सेवाओं के लिए बेंचमार्क और अनचाही कमर्शियल फोन कॉल्स पर चर्चा की जाएगी.

इस कदम का मकसद टेलीकॉम सर्विस की गुणवत्ता में सुधार करना और कॉल ड्रॉप्स की जांच करना है. यह ऐसे समय में भी आया है जब देश भर में अल्ट्रा हाई स्पीड 5G सेवाएं शुरू की जा रही हैं. अब तक भारत के 300 से अधिक शहरों में 5G सेवाएं शुरू की जा चुकी हैं.

कॉल ड्रॉप बना सिरदर्द

पिछले कुछ महीनों में सर्विस क्वालिटी से जुड़े मुद्दे सुर्खियों में रहे हैं. दूरसंचार विभाग ने दिसंबर में कॉल ड्रॉप और सर्विस क्वालिटी से जुड़े मुद्दों के बढ़ते मामलों पर चर्चा करने के लिए ऑपरेटर्स से मुलाकात की था, और उन नीतिगत उपायों पर विचार-विमर्श किया, जिन पर कॉल की क्वालिटी में सुधार के लिए विचार किया जा सके.

लोकल सर्कल के एक सर्व में ये बात सामने आई कि भारत में मोबाइल फोन यूजर्स को हर दिन कम से कम एक ऐसी अनचाही परेशान करने वाली कॉल आती है. 92% लोग 'डू- नॉट डिस्टर्ब' सूची में होने के बाद भी ऐसी अनचाही कॉल से परेशान हैं. सर्वे में शामिल 78% लोगों के मुताबिक उनके पास सबसे ज्यादा कॉल्स फाइनेंशियल सर्विसेज और रियल एस्टेट सेक्टर से आती हैं.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT