ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

बिटकॉइन फिर 50,000 डॉलर के पार, क्या आगे भी जारी रहेगी तेजी?

2022 में 64% की गिरावट के बाद पिछले साल की शुरुआत से बिटकॉइन की वैल्यू तीन गुना बढ़ गयी है.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी02:37 PM IST, 13 Feb 2024NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

घोटाले की खबरों, गिरफ्तारियों, उठा-पटक और कड़े रेगुलेटरी प्रतिबंधों के बावजूद क्रिप्टो को लेकर लोगों का क्रेज कम नहीं हुआ है. दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) ने 2 साल से अधिक समय में पहली बार 50,000 डॉलर का लेवल छुआ है.

ब्लूमबर्ग के मुताबिक, सिंगापुर में मंगलवार सुबह 10:52 बजे तक सबसे बड़ी डिजिटल एसेट $49,960 पर कारोबार कर रही थी, जो पहले बढ़कर $50,379 तक पहुंच गई थी. 2022 में 64% की गिरावट के बाद पिछले साल की शुरुआत से बिटकॉइन की वैल्यू तीन गुना बढ़ गई है.

बिटकॉइन में तेजी क्यों ?

करीब एक दशक पहले बिटकॉइन को लाया गया था. बिटकॉइन की शुरुआत के बाद से इसकी कीमतों में तेज उतार-चढ़ाव देखा गया है. जिसकी वजह से लंबे समय तक ये अटकलबाजी और सटोरियों के बीच लोकप्रिय रहा है. क्रिप्टो को मौजूदा चले आ रहे पारंपरिक वित्तीय सिस्टम के विकल्प के रूप में पेश करने की भी कोशिश की गई.

पिछले महीने अमेरिका ने बिटकॉइन के ETF को मंजूरी दी थी, जिसके बाद निवेशकों ने इसे हाथों हाथ लिया था, और कीमतों में तेजी देखने को मिली थी.

इस एसेट में कैश इन्फ्लो के बारे में बहुत चर्चा है. मैं ये भी कहना चाहूंगा कि मोमेंटम प्लेयर भी उत्साहित हो रहे हैं.
मैट माले, चीफ मार्केट स्ट्रैटेजिस्ट, Miller Tabak & Co.

कंबरलैंड लैब्स के DeFi एनालिस्ट क्रिस न्यूहाउस ने कहा कि क्रिप्टो की कीमतों में बनी तेजी की एक वजह ये भी रही है कि अमेरिका की मॉनिटरी पॉलिसी में क्रिप्टो को लेकर किसी तरह की सख्ती का जिक्र नहीं किया गया. उन्होंने ये भी कहा कि जोखिम लेने की क्षमता डिजिटल एसेट में भी हावी हो गई हैं.

क्रिप्टो से संबंधित कंपनियों के शेयरों में भी सोमवार को बिटकॉइन प्रॉक्सी माइक्रोस्ट्रैटेजी में 11% की बढ़ोतरी हुई ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म कॉइनबेस ग्लोबल में 3.8% और माइनर मैराथन डिजिटल होल्डिंग्स में 14.2% की बढ़ोतरी हुई. डिजिटल एसेट से संबंधित एशियाई शेयरों में पॉजिटिव सेंटीमेंट देखा जा रहा है.

जापान के मोनेक्स ग्रुप और दक्षिण कोरिया में वूरी टेक्नोलॉजी इन्वेस्टमेंट कंपनी जैसी कंपनियों में तेजी है.

मई 2022 में स्टेबलकॉइन TerraUSD के गिरने के बाद से बिटकॉइन ने अपने सभी नुकसानों की भरपाई कर ली है.

जब FTX नीचे गया, तब क्रिप्टो मार्केट में पहले से ही गिरावट थी, जिसने हेज फंड थ्री एरो कैपिटल और सेल्सियस नेटवर्क को भी प्रभावित किया था. लेकिन FTX की गिरावट और भी अधिक डैमेजिंग थी. लिक्विडिटी खत्म होने के कारण टोकन की कीमतें स्थिर हो गईं थी.

बैंकमैन-फ्राइड को धोखाधड़ी का दोषी ठहराया गया है और इसके साथ बाइनांस एक्सचेंज के को-फाउंडर चांगपेंग झाओ को अमेरिकी प्रतिबंधों के उल्लंघन और एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग नीतियों को लागू करने में विफल रहने के लिए सजा होने वाली है.

ETF इन्फ्लो

9 अमेरिकी स्पॉट बिटकॉइन एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ETF) 11 जनवरी को शुरू हुए. जबकि एक दशक से अधिक पुराना ग्रेस्केल बिटकॉइन ट्रस्ट उसी दिन ETF में कन्वर्ट हो गया. नए फंडों ने अब तक लगभग 9 बिलियन डॉलर निवेश हुआ है, वहीं, ग्रेस्केल फंड से 6 बिलियन डॉलर का आउटफ्लो हुआ है.

स्टेट स्ट्रीट ग्लोबल एडवाइजर्स में SPDR अमेरिका डिस्ट्रीब्यूशन के प्रमुख सुसान थॉम्पसन ने ब्लूमबर्ग से कहा कि हम ब्रॉडर ऐक्सेप्टन्स से थोड़ा दूर हैं हालांकि हम जिन एडवाइजर्स से बात करते हैं उनमें से ज्यादातर वेट एंड वाच का रुख अपना रहे हैं.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT