ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

जुपिटर लाइफ लाइन की बाजार में शानदार एंट्री, 32.38% प्रीमियम के साथ 973 रुपये पर लिस्ट

जुपिटर लाइफ लाइन हॉस्पिटल्स ने 5 सितंबर को अपने IPO से पहले एंकर निवेशकों से 260.72 करोड़ रुपये जुटाए हैं.
NDTV Profit हिंदीमोहम्मद हामिद
NDTV Profit हिंदी10:14 AM IST, 18 Sep 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

जुपिटर लाइफ लाइन हॉस्पिटल्स (Jupiter Life Line Hospitals Ltd.) की शेयर बाजार में अच्छी लिस्टिंग हुई है.

NSE पर ये 32.38% प्रीमियम के साथ 973 रुपये प्रति शेयर पर लिस्ट हुआ है, जबकि BSE पर ये 30.6% प्रीमियम के साथ 960 रुपये प्रति शेयर पर लिस्ट हुआ है, जबकि इसके IPO का प्राइस बैंड 735 रुपये प्रति शेयर था.

63.72 गुना सब्सक्राइब हुआ था IPO

IPO को पहले दिन 87%, दूसरे दिन 3.30 गुना और तीसरे दिन 63.72 गुना सब्सक्राइब किया गया था. सबसे ज्यादा बोलियां संस्थागत निवेशकों को मिली थीं, ये हिस्सा 187.32 गुना सब्सक्राइब हुआ था. इसके बाद गैर-संस्थागत निवेशकों ने 34.75 गुना सब्सक्राइब किया, रिटेल निवेशकों का हिस्सा 7.73 गुना सब्सक्राइब हुआ था.

जुपिटर लाइफ लाइन हॉस्पिटल्स ने 5 सितंबर को अपने IPO से पहले एंकर निवेशकों से 260.72 करोड़ रुपये जुटाए हैं. कंपनी ने कुल 39 एंकर निवेशकों को 735 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से लगभग 35.47 लाख शेयर आवंटित किए हैं.

कंपनी का बिजनेस

2007 में स्थापित, जुपिटर लाइफ लाइन हॉस्पिटल्स, पश्चिमी भारत में एक मल्‍टीस्‍पेशियलिटी हेल्‍थ सर्विस प्रोवाइडर है. वर्तमान में ये ठाणे (मुंबई), पुणे और इंदौर में जुपिटर ब्रैंड के तहत तीन अस्पताल संचालित करता है.

31 मार्च तक कंपनी की कुल ऑपरेटिंग कैपेसिटी 1,194 बेड्स और 1,246 डॉक्टरों की है. इन डॉक्‍टर्स में विशेषज्ञ, चिकित्सक और सर्जन शामिल हैं.

कंपनी वर्तमान में महाराष्ट्र के डोंबिवली में लगभग 500 बिस्तरों वाला एक मल्‍टीस्‍पेशियलिटी अस्पताल बना रही है, जिसका निर्माण अप्रैल में शुरू हुआ है.

वित्त वर्ष 2023 में, कंपनी की इन-पेशेंट और आउट-पेशेंट इनकम को हॉस्पिटल्‍स के बीच बांटा गया था, जिसमें ठाणे, पुणे और इंदौर अस्पतालों के संचालन से रेवेन्‍यू का क्रमशः 54%, 34% और 12% हिस्सा था.

मुनाफे का इस्‍तेमाल

जो रकम जुटाई गई है, उसे सामान्‍य कॉरपोरेट उद्देश्यों के अलावा कंपनी और सहायक कंपनी द्वारा बैंकों से लिए गए कर्ज के पूर्ण या आंशिक पुनर्भुगतान/पूर्व भुगतान (अनुमानित 463.9 करोड़ रुपये) के लिए किया जाएगा.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT