ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Markets at New High: नए शिखर पर बैंक निफ्टी; सेंसेक्स 63,000 के पार

US के कर्ज संकट पर डील होने से ग्लोबल मार्केट में जोरदार उछाल दिखा. वहीं भारतीय बाजार की मजबूत शुरुआत हुई. सेंसेक्स करीब 6 महीने के ऊपरी स्तर पर कारोबार कर रहा है.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी11:57 AM IST, 29 May 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

भारतीय बाजार आज नई ऊंचाई पर ट्रेड कर रहे हैं. सेंसेक्स 450अंकों की तेजी के साथ 62,800 के ऊपर खुला, निफ्टी की शुरुआत भी 18600 के ऊपर हुई, 14 दिसंबर 2022 के बाद निफ्टी पहली बार 18600 के पार खुला.

बैंक निफ्टी नए शिखर पर

आज धमाल बैंक निफ्टी ने मचाया, 14 दिसंबर 2022 के बाद पहली बार निफ्टी 44300 के पार पहुंचा. इंट्रा डे के दौरान बैंक निफ्टी पहली बार 44400 के पार भी गया. निफ्टी बैंक के 12 में से 11 शेयरों में खरीदारी है. बैंक निफ्टी के टॉप गेनर्स इंड्सइंड बैंक +1.90%, HDFC बैंक +1.40% और बंधन बैंक +1.30% रहे (सुबह 11बजे तक)

सेंसेक्स करीब 6 महीने की ऊंचाई पर

बाजार में बुलिश मूड बरकरार है. सेंसेक्स की शुरुआत  62,800 के पार हुई. वहीं इंट्रा-डे में सेंसेक्स 63000 के पार कर गया. सेंसेक्स के 30 में से 25 शेयरों में खरीदारी और 5 शेयरों में बिकवाली दिखी है. फिलहाल सेंसक्स में करीब 500 अंकों की उछाल दिखा और 63000 के पार कारोबार कर रहा था.( सुबह 11 बजे तक)

14 दिसंबर 2022 के बाद निफ्टी 18600 के पार

GDP आंकड़े से पहले बाजार में जोरदार तेजी दिखी है. निफ्टी की शुरुआत काफी मजबूत रही. 14 दिसंबर 2022 के बाद निफ्टी 18600 के पार खुला. सुबह 11 बजे निफ्टी 18600 के पार कारोबार रहा था. वहीं निफ्टी के 50 में से 37 शेयरों में खरीदारी दिखी.

निफ्टी के टॉप गेनर्स(सुबह 11 बजे तक)

M&M +3.60%

हिंडाल्को +2.24%

इंड्सइंड बैंक +1.93%

बजाज फिनसर्व +1.73%

वहीं HDFC और HDFC बैंक में भी तेजी का मूड बरकरार है. ये निफ्टी को ऊपर ले जाने में सपोर्ट कर रहा है.

बाजार में तेजी के कारण

  • अमेरिका में कर्ज संकट पर डील होने से ग्लोबल मार्केट्स से अच्छे संकेत मिले, जिसने भारतीय बाजारों को भी सहारा दिया

  • FIIS और DIIs की खरीदारी बाजार में लौटने से भी सेंटीमेंट्स में सुधार आया

  • ग्लोबल रेटिंग एजेंसीज का भारत की ग्रोथ को लेकर पॉजिटिव नजरिया बनने से भी बाजार सपोर्ट मिला है

  • माैसम विभाग ने सामान्य मॉनसून का अनुमान जताया है जिससे बाजार में भी पॉजिटिव संदेश गया

  • महंगाई के मोर्चे पर राहत मिलने से अब अनुमान ये जताया जा रहा है कि दुनिया भर के केंद्रीय बैंक ब्याज दरों में बढ़ोतरी पर लगाम लगाएंगे

FPIs का भारत पर भरोसा

भारतीय शेयर बाजार पर फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स यानी विदेशी निवेशकों का भरोसा बना हुआ है. FPI डाटा के अनुसार, मई में विदेशी निवेशकों ने भारतीय शेयर बाजारों में 37,316 करोड़ रुपये का निवेश किया है. यह बीते 6 महीने में सबसे ज्यादा निवेश का रिकॉर्ड है. इससे पहले नवंबर 2022 में उन्होंने शुद्ध रूप से 36,239 करोड़ रुपये का निवेश किया था.

मजबूत मैक्रो—इकोनॉमिक फंडामेंटल्स और शेयरों के उचित मूल्यांकन की वजह से भारतीय बाजारों के प्रति FPI का आकर्षण बढ़ा है. डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, FPI ने 2 से 26 मई के दौरान भारतीय शेयरों में शुद्ध रूप से 37,317 करोड़ रुपये का निवेश किया है. इससे पहले उन्होंने अप्रैल में शेयरों में 11,630 करोड़ रुपये और मार्च में 7,936 करोड़ रुपये डाले थे.

मार्च के निवेश में मुख्य योगदान अमेरिका के GQG पार्टनर्स का रहा था, जिसने अदाणी समूह की कंपनियों में निवेश किया था. अगर GQG के निवेश को हटा दिया जाए, तो मार्च का आंकड़ा भी निगेटिव हो जाएगा. इसके अलावा इस साल के पहले 2 महीनों FPI ने शेयरों से 34,000 करोड़ रुपये से अधिक की निकासी की थी.

FPI ने शेयरों के अलावा मई में अब तक डेट या बॉन्ड मार्केट में 1,432 करोड़ रुपये डाले हैं. इसके साथ 2023 में अब तक FPI भारतीय शेयरों में शुद्ध रूप से 22,737 करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT