ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Cyclone Mocha: आज भयंकर रूप ले सकता है 'मोका', IMD ने बताया- कहां-कहां है आंधी-बारिश और हीटवेव का खतरा

IMD का कहना है कि पूर्वी भारत में शुष्क हवाएं चल रही हैं, जो बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवात मोका की ओर बढ़ रही हैं.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी11:24 AM IST, 12 May 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

IMD Alert for Cyclone Mocha: बंगाल की खाड़ी पर चक्रवाती तूफान 'मोका' खतरनाक होता जा रहा है. IMD यानी भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, आज 12 मई को ये भयंकर तूफान और 14 मई को बहुत गंभीर साइक्लोन में बदल सकता है. इस चेतावनी के बाद पश्चिम बंगाल में अलर्ट जारी कर दिया गया है. तटीय इलाकों पर NDRF की टीमें भी तैनात की गई हैं.

IMD ने शुक्रवार को ट्वीट कर बताया कि 'मोका' आधी रात को अंडमान निकोबार द्वीप समूह के पोर्ट ब्लेयर से करीब 520 किलोमीटर पश्चिमोत्तर-पश्चिम में बंगाल की खाड़ी के मध्य था. इसलिए सावधान रहने की जरूरत है. IMD ने कहा है कि मोका चक्रवात गुरुवार की रात से ही मजबूत हो रहा है और शुक्रवार को ये एक गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है.

मौसम विभाग के अनुसार, तूफान के दौरान 135 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं और इसके बांग्लादेश-म्यांमार तट की ओर से बढ़ने की संभावना है. म्यांमार और बांग्लादेश ने मोका के खतरे को ध्यान में रखते हुए बचाव दलों को तैनात कर दिया है और निचले इलाकों के लोगों को खाली करने को कहा है.

भारत में कहां-कहां कैसा खतरा?

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए 'भारी से बहुत भारी' बारिश की चेतावनी जारी की है. IMD का कहना है कि 13 और 14 मई को कुछ राज्यों में मूसलाधार बारिश भी हो सकती है. वहीं केरल, ओडिशा और कर्नाटक में मध्यम बारिश चक्रवात मोका के एक गंभीर तूफान के रूप में तेज होने की आशंका जताई है. चक्रवात मोचा के चलते पूर्वोत्तर राज्यों में प्रचंड गर्मी पड़ सकती है और हीटवेव का भी खतरा है.

इन राज्यों में बारिश की संभावना

IMD का कहना है कि पूर्वी भारत में शुष्क हवाएं चल रही हैं, जो बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवात मोका की ओर बढ़ रही हैं. ऐसे में 13 और 14 मई को पूर्वोत्तर राज्यों में तेज हवाएं और बारिश होने की उम्मीद है. हालांकि इससे मॉनसून की शुरुआत प्रभावित नहीं होगी. मॉनसून भारत में अमूमन 1 जून के आसपास केरल से एंट्री करता है.

इन राज्यों में हीटवेव की चेतावनी

मौसम विभाग ने गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, बिहार और पश्चिम बंगाल में हीटवेव की चेतावनी दे रखी थी. कोंकण में 10 से 12 मई तक, राजस्थान में 12 और 13 मई को, जबकि तटीय आंध्र प्रदेश में 13 से 15 मई के दौरान हीटवेव की चेतावनी दी गई है. 13 और 14 मई को केरल और तमिलनाडु में भीषण गर्मी पड़ सकती है. वहीं, ओडिशा में भी अगले 5 दिनों के दौरान भीषण गर्मी पड़ने का अनुमान जताया है.

कैसे पड़ा 'मोका' नाम?

चक्रवाती तूफानों को संयुक्त राष्ट्र की इकोनॉमिक एंड सोशल कमीशन फॉर एशिया एंड पैसिफिक (ESCAP) पैनल के सदस्य देश नाम देते हैं, जिनमें भारत समेत 13 देश शामिल हैं. इस चक्रवाती तूफान को 'मोका' नाम मिडिल ईस्ट एशिया के देश 'यमन' ने दिया है. 'मोका' यमन का एक शहर है, जिसे मोखा भी कहते हैं. अपने कॉफी बिजनेस के लिए ये शहर फेमस है और 'मोका कॉफी' का भी नाम इसी शहर के नाम पर पड़ा है.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT