ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Nirmala Sitharaman Exclusive: वित्त मंत्री बोलीं- कामयाब रहा G20, देश की नई पहचान बनी; सनातन धर्म को लेकर विपक्ष पर किया हमला

वित्त मंत्री ने कहा, 'भारत ने सभी मुद्दे को बेहतर तरीके से पेश किया, जिसके चलते हम सभी मुद्दों पर सहमति बनाने में कामयाब रहे.'
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी01:08 PM IST, 15 Sep 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

Nirmala Sitharaman Exclusive Interview: G20 शिखर सम्मेलन (G20 Summit 2023) की कामयाबी को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और उनके विजन को क्रेडिट दिया है.

NDTV को दिए गए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में वित्त मंत्री ने कहा, 'G20 सम्मेलन में हर मुद्दे पर खुलकर विस्तार से पर चर्चा की गई थी. भारत ने सभी मुद्दे को बेहतर तरीके से पेश किया, जिसके चलते हम सभी मुद्दों पर सहमति बनाने में कामयाब रहे.'

उन्‍होंने कहा, 'देश के कई शहरों में G20 की बैठकें हुईं. G20 में दुनिया को भारत की शानदार संस्कृति की झलक दिखाई गई. इस समिट से दुनिया भर में भारत की नई छवि बनी है.' उन्‍होंने डिजिटल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, क्रिप्‍टो समेत कई मुद्दों पर बात की. साथ ही ISRO के मिशन चंद्रयान-3 में महिलाओं की भागीदारी को प्रेरणात्मक बताया.

'ग्‍लोबल साउथ की आवाज बने हम'

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नई दिल्‍ली घोषणा पत्र पर संतुष्टि जताई और कहा G20 के सदस्य देशों ने हम पर भरोसा जताया. सभी देशों ने मिलकर हमारा सहयोग किया. उन्‍होंने कहा, 'G20 समिट में हमने सभी मुद्दों पर सहमति हासिल की. हर मुद्दे पर सभी सदस्यों से खुलकर बातचीत की गई.

उन्‍होंने कहा, 'ग्लोबल साउथ की आवाज बनने पर प्रधानमंत्री मोदी का फोकस रहा. भारत विकास की जरूरत समझता है. ये गर्व की बात है कि दिल्ली घोषणा पत्र पर सहमति का पहले दिन ऐलान कर दिया गया.'

'डिजिटल क्षेत्र में नई पहचान बनी'

वित्त मंत्री ने कहा, 'डिजिटल क्षेत्र में भारत की नई पहचान बनी है. हमने डिजिटल फ्रेमवर्क का विविधता के साथ इस्तेमाल किया है. कई देशों ने भारत के DPI यानी डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर में अपनी रुचि दिखाई है.' उन्‍होंने कहा, 'MSME के लिए डिजिटल तकनीक फायदेमंद है.'

'कोविड और जंग के चलते कई देश कर्ज में डूबे'

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, 'कोविड और जंग की वजह से कई देश कर्ज में डूबे.' उन्‍होंने कहा, 'सभी एजेंडे कोविड, युद्ध और कर्ज से पीड़ित देशों के साथ सामूहिक कार्रवाई पर केंद्रित थे. हमने जो भी एजेंडे रखे, उन पर विस्तार से चर्चा हुई. यूक्रेन पैराग्राफ G20 लीडर्स के लिए छोड़ा गया. भारत ने बड़ी परिपक्वता और कुशलता के साथ इसे हर चरण में संभाला.

'22 देशों ने रुपये में ट्रेड पर जताई सहमति'

रुपये में ट्रेड के सवाल पर उन्‍होंने कहा, '22 देशों ने भारतीय रुपये में ट्रेड पर सहमति जताई है. कई देश भारतीय रुपये को 'स्टेबल करेंसी' मानते हैं.' उन्‍होंने कहा कि एक देश के तौर पर भारत अपने विकास लक्ष्य समझता है.

'क्रिप्‍टो के रेगुलेशन के लिए सामूहिक कार्रवाई जरूरी'

वित्त मंत्री ने कहा, 'G20 देशों ने क्रिप्टो एसेट्स, ग्लोबल डेट, ब्रेटन वुड्स इंस्टीट्यूशन- IMF और वर्ल्ड बैंक में सुधार की आवश्यकता जैसे मुद्दों पर सामूहिक चर्चा की है. क्रिप्टो एसेट्स को रेगुलेट करने जैसे मुद्दों पर वित्त मंत्री ने कहा कि अगर सभी देश अलग-अलग प्रयास कर रहे हैं तो ये सही नहीं है. उन्होंने कहा, 'हमें सामूहिक कार्रवाई की जरूरत है और साझा चर्चा की जरूरत है.'

'सनातन धर्म के खिलाफ है I.N.D.I.A.'

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने विपक्षी गठबंधन I.N.D.I.A. पर हमला बोलते हुए कहा कि वे लोग हिंदू संस्‍कृति और सनातन धर्म के खिलाफ हैं. उन्होंने DMK नेता उदयनिधि स्टालिन की भड़काऊ टिप्पणियों पर तीखा हमला करते हुए कहा, 'उदयनिधि ने लोगों के बीच विभाजन और भेदभाव को बढ़ावा देने के लिए सनातन धर्म को दोषी ठहराया है, इसे खत्म करना चाहते हैं.'

उन्‍होंने कहा, 'DMK की नीति सनातन विरोधी रही है. 70 साल से पार्टी ऐसा कर रही है.' कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्‍होंने कहा, 'सबसे पुरानी पार्टी उन समूहों का समर्थन करती है, जो देश को तोड़ना चाहते हैं.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT