ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

CoP28: दुबई में PM मोदी का बड़ा प्रस्‍ताव, भारत को मिले अगले समिट की मेजबानी का मौका

जलवायु परिवर्तन को लेकर PM मोदी ने कहा, 'हमें पिछली सदी की गलतियों को जल्द सुधारना होगा, क्योंकि सुधार के लिए समय बहुत कम है. हमें मिल कर काम करना है.'
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी05:57 PM IST, 01 Dec 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) की मेजबानी में हो रहे CoP28 समि‍ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सबके सामने ये प्रस्‍ताव रखा कि 2028 में होने वाले CoP33 की मेजबानी का अवसर भारत को दिया जाए.

दुबई में चल रहे क्‍लाइमेट समिट के दौरान दुनियाभर के नेताओं को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा, 'हमारे-आपके सभी के प्रयासों से ये भरोसा बढ़ा है कि विश्व कल्‍याण के लिए सबके हितों की सुरक्षा जरूरी है. इसमें सबकी भागीदारी भी सुनिश्चित होनी चाहिए.'

PM मोदी ने कहा कि भारत क्लाइमेट चेंज को लेकर होने वाले इस समिट की मेजबानी करने के लिए तैयार है. उन्‍होंने बड़ा ऐलान करते हुए ये प्रस्‍ताव रखा कि अगली बार भारत को मेजबानी का मौका दिया जाए.

सबसे ज्‍यादा आबादी, फिर भी कम कार्बन एमिशन

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए कहा, 'मैं 140 करोड़ भारतीयों की ओर से सभी को नमस्कार करता हूं.' आगे उन्‍होंने कहा, दुनिया की 17% आबादी होने के बावजूद ग्‍लोबल कार्बन एमिशन में हमारा योगदान 4% से भी कम है.'

उन्‍होंने कहा, 'G20 की अध्यक्षता में हमारा ध्येय वाक्य 'एक पृथ्वी, एक परिवार' (One Earth, One Family) था. हमने बेहतरीन संतुलन बनाते हुए दुनिया के सामने विकास का एक मॉडल पेश किया है.'

'पिछली गलतियों को सुधारना होगा'

PM मोदी ने कहा, 'हमें पिछली सदी की गलतियों को जल्द सुधारना होगा, क्योंकि सुधार के लिए समय बहुत कम है. हमें मिल कर काम करना है. पर्यावरण को लेकर भारत अपने राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने की राह पर है.'

ग्रीन क्रेडिट इनिशिएटिव का प्रस्ताव

प्रधानमंत्री ने कार्बन क्रेडिट के कमर्शियलाइजेशन को खत्म करने के लिए ग्रीन क्रेडिट इनिशिएटिव का प्रस्ताव रखा. ग्रीन क्रेडिट इनिशिएटिव बाजार-आधारित तंत्र (Market Based Mechanism) के जरिये पर्यावरणीय सकारात्मक कार्यों (Environmental Positive Actions) को प्रोत्साहित करेगी और ग्रीन क्रेडिट पैदा करेगी. फिर इसे व्यापार योग्य बनाया जाएगा और घरेलू बाजार मंच पर उपलब्ध कराया जाएगा.

दुबई में PM मोदी का स्‍वागत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी UAE के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के न्योते पर दो दिवसीय दौरे पर हैं. गुरुवार देर रात वो दुबई पहुंचे थे. 30 नवंबर से शुरू हुआ CoP28 समिट 12 दिसंबर तक चलेगा.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT