ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

जिम्बाब्वे के आर्थिक हालात दुनिया में सबसे खराब, हैंक की सालाना लिस्ट में ये देश शामिल

इंडेक्स में कहा गया है कि जिम्बाब्वे की इस खस्ता हालत के पीछे सबसे बड़ी वजह महंगाई है.
NDTV Profit हिंदीराघव वाधवा
NDTV Profit हिंदी09:57 PM IST, 24 May 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

मौजूदा समय में दुनिया में आर्थिक तौर पर सबसे खराब हालात जिम्बाब्वे के हैं. ये बात मशहूर अर्थशास्त्री स्टीव हैंक (Steve Hanke) के एनुअल मिजरी इंडेक्स (Hanke’s Annual Misery Index) से सामने आई है. इसे तैयार करते समय देशों की बेरोजगारी, महंगाई और बैंक कर्ज की दरों और 'रियल GDP पर कैपिटा ग्रोथ' को शामिल किया जाता है. इस सूची में दूसरे नंबर पर वेनेजुएला है. इसके अलावा इंडेक्स के मुताबिक, सबसे खराब आर्थिक स्थिति वाले देशों में सीरिया, लेबनान और सूडान शामिल हैं.

जिम्बाब्वे के खराब हालात की सबसे बड़ी वजह महंगाई

इंडेक्स के मुताबिक, जिम्बाब्वे 414.7 स्कोर के साथ लिस्ट में सबसे टॉप पर मौजूद है. इस देश में बेरोजगारी की दर 20% है. यहां महंगाई 243.8% पर पहुंच गई है. इंडेक्स में कहा गया है कि जिम्बाब्वे की इस खस्ता हालत के पीछे सबसे बड़ी वजह महंगाई है. वहीं, दूसरे नंबर पर मौजूद वेनेजुएला में भी महंगाई ने आर्थिक स्थिति को खराब किया है. इस देश में महंगाई 266.9% पर मौजूद है.

सीरिया की बात करें, तो यहां बेरोजगारी की दर 57% है. यही इसे इस बुरी स्थिति में पहुंचाने के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार है. सीरिया खराब हालात के मामले में तीसरे नंबर पर आता है.

लेबनान, सूडान भी इंडेक्स में शामिल

सबसे खराब हालात वाले देशों की लिस्ट में चौथे नंबर पर लेबनान मौजूद है. इंडेक्स के मुताबिक, इस देश का मिजरी स्कोर 190 के करीब है. इसकी सबसे बड़ी वजह यहां की ऊंची महंगाई दर, जो 100% से भी ज्यादा है. सूडान की बात करें, तो यहां की बेरोजगारी दर 30.6% है. लिस्ट में छठे स्थान पर अर्जेंटीना आता है. लिस्ट के मुताबिक इसका मिजरी इंडेक्स स्कोर 156 के आसपास है.

अगला नंबर यमन का है, जिसकी इस खराब स्थिति में पहुंचने की वजह वहां की ऊंची महंगाई दर है. इंडेक्स के मुताबिक, लिस्ट में आठवें नंबर पर रूस के साथ युद्ध के बीच फंसा देश यूक्रेन है. यहां बेरोजगारी सबसे बड़ी मुश्किल है. बेरोजगारी की दर इस देश में 19.9% रही है. इसके अलावा इंडेक्स में क्यूबा, तुर्की और श्रीलंका के नाम भी शामिल हैं.

भारत का पड़ोसी देश श्रीलंका हैंक के दुनिया के सबसे खराब हालात वाले देशों के इस इंडेक्स में 11वें नंबर पर मौजूद है. इंडेक्स के डेटा को मानें, तो यहां महंगाई दर 57.207% हो गई है. पाकिस्तान 35वें नंबर पर है. लिस्ट में भारत 103 नंबर पर है.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT