ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Karnataka Elections 2023: कौन बनेगा कर्नाटक का किंग? इन दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर

इस चुनाव में BJP, कांग्रेस और JDS के कई चेहरों पर न केवल कर्नाटक, बल्कि पूरे देश की नजर है.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी07:05 AM IST, 13 May 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

Karnataka Elections 2023 Hot Seats: कर्नाटक में नई सरकार किसकी बनेगी? 5 करोड़ से ज्यादा वोटर्स ने 10 मई को इसका फैसला कर दिया है. 224 विधानसभा सीटों पर 2,615 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला आज हो जाएगा.

इस चुनाव में BJP, कांग्रेस और JDS के कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर है. इन चेहरों पर न केवल कर्नाटक, बल्कि पूरे देश की नजर है. इसमें प्रदेश अध्यक्ष से लेकर पूर्व CM और निवर्तमान मुख्यमंत्री तक के नाम शामिल हैं. अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रत्याशियों ने जहां खूब पसीना बहाया है, वहीं राजनीतिक पार्टियों ने भी कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है.

आइए, उन कुछ दिग्गजों और उनकी सीटों के समीकरण समझने की कोशिश करते हैं.

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई

कर्नाटक के CM बसवराज बोम्मई को उनकी पार्टी BJP ने शिग्गांव सीट से टिकट दिया था. पिछली बार उन्होंने यहां कांग्रेस को 9,000+ वोटों से हराया था. शिग्गांव विधानसभा क्षेत्र से बोम्मई लगातार तीन बार से जीतते आ रहे हैं. इस बार उनका मुकाबला कांग्रेस के यासिर अहमद खान पठान और JDS के शशिधर चन्नबसप्पा यलीगर से है, देखना होगा कि क्या वो चौथी बार जीतते हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया

सिद्धारमैया वरुणा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. पूर्व CM के खिलाफ BJP ने कर्नाटक सरकार के निवर्तमान मंत्री वी सोमन्ना को मैदान में उतारा है. वहीं, JDS से डॉ भारती शंकर मैदान में हैं. 2018 में सिद्धारमैया ने अपने बेटे यतींद्र के लिए ये सीट छोड़ दी थी, लेकिन इस बार वे खुद यहां से लड़ रहे हैं. यह उनका गृह क्षेत्र है.

पूर्व मुख्यमंत्री HD कुमारस्वामी

पूर्व CM और JDS प्रमुख HD कुमारस्वामी, दिग्गज नेता और पूर्व प्रधानमंत्री HD देवेगौड़ा के बेटे हैं. कुमारस्वामी प्रदेश के चन्नापटना सीट से दूसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं. उनके खिलाफ BJP ने CP योगेश्वर को खड़ा किया है, जबकि कांग्रेस ने गंगाधर एस को मैदान में उतारा है. कुमारस्वामी ने 2018 चुनाव में BJP के सीपी योगेश्वर को ही हराया था.

पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार

कर्नाटक के पूर्व CM और BJP के दिग्गज नेता जगदीश शेट्टार हुबली-धारवाड़ सेंट्रल से मैदान में हैं. लेकिन इस बार वो कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. 6 बार के विधायक होने के बावजूद BJP ने उन्हें टिकट नहीं दिया तो उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया. BJP ने उनके खिलाफ महेश तेंगिनाकाई को मैदान में उतारा है.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष DK शिवकुमार

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष DK शिवकुमार की गिनती कांग्रेस के तेज तर्रार नेता के रूप में होती है. वो कनकपुरा सीट से मैदान में हैं, जहां से वो 7 बार विधायक रहे हैं. इस बार उनके खिलाफ BJP ने राजस्व मंत्री आर अशोक को टिकट दिया है, जबकि JDS ने बी नागराजू को मैदान में उतारा है.

पूर्व CM के एक्टर बेटे न‍िख‍िल

पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के बेटे और कन्‍नड़ फिल्‍मों के अभिनेता न‍िख‍िल कुमारस्वामी कर्नाटक की रामनगरम विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं. यहां से उनके पिता कुमारस्वामी 2004 से लगातार चुनाव जीतते रहे हैं. कांग्रेस ने इस सीट पर इकबाल हुसैन को टिकट दिया है. वहीं, BJP ने गौथम गौड़ा को मैदान में उतारा है. आम आदमी पार्टी के टिकट पर बायरेगौड़ा एस किस्मत आजमा रहे हैं.

येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र

लिंगायत समुदाय के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री BS येदियुरप्पा ने इस बार चुनाव नहीं लड़ा. लेकिन उनके बेटे BY विजयेंद्र, BJP के टिकट पर शिकारीपुरा विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में उतारा है. उनके खिलाफ कांग्रेस के GB मलातेश हैं.

2 पूर्व डिप्टी CM मैदान में

कर्नाटक के कोरातागेरे से कांग्रेस ने पूर्व डिप्टी CM जी परमेश्वर को मैदान में उतारा है. यहां से उनके खिलाफ BJP ने रिटायर्ड IAS अनिल कुमार को मैदान में उतारा है. कांग्रेस ने ही एक और पूर्व डिप्टी CM लक्ष्मण सावदी को मैदान में उतारा है. BJP छोड़कर कांग्रेस में आए सावदी के खिलाफ BJP से महेश कुमाथल्ली और JDS से शशिकांत पदसालगी मैदान में हैं.

बता दें कि कर्नाटक चुनाव 2023 में इस बार कई राजनीतिक दलों की भागीदारी है, लेकिन मुख्य मुकाबला BJP , कांग्रेस और JDS के बीच है. ऐसे में किसके सिर जीत का सेहरा बंधेगा और किसे हार मिलेगी, इसकी तस्वीर 13 मई को साफ हो जाएगी.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT