ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Diwali 2023: म्‍यूचुअल फंड सही है, लेकिन कितना? दिवाली पर AMFI चीफ नवनीत मुनोत ने बताया निवेश का शानदार फॉर्मूला

सवाल ये है कि बाजार के उतार-चढ़ाव के बीच क्‍या म्‍यूचुअल फंड्स में फ्यूचर सुरक्षित है?
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी02:26 PM IST, 09 Nov 2023NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी
पैसे से पैसा बनाना कोई आम बात नहीं है. खासकर मार्केट में. इसके लिए पैसों के अलावा जरूरी है, मार्केट की समझ और निवेश की तकनीकी जानकारी. BQ प्राइम हिंदी का उद्देश्य भी हमारे दर्शकों-पाठकों को समृद्ध और खुशहाल बनाना है. एक साल पहले शुरू किए गए सफर में BQ प्राइम हिंदी की कोशिशों को आपने सराहा और ढेर सारा प्यार दिया है. आपके प्यार को ब्याज समेत लौटाने का वक्त आ गया है और दिवाली से अच्छा मौका हो नहीं सकता. इस बार हमारी दिवाली थीम है- दिवाली, समृद्धि वाली. इस स्‍पेशल इंटरव्‍यू सीरीज में हम मार्केट के दिग्‍गजों को आपके बीच लाएंगे जो आपको संवत 2080 में निवेश के बेहतरीन मौके बताएंगे.

इस कड़ी में आज हमारे बीच हैं, AMFI यानी एसोसिएशन ऑफ म्‍यूचुअल फंड्स इन इंडिया के चेयरमैन, नवनीत मुनोत (Navneet Munot). BQ Prime की तमन्ना इनामदार ने उनसे म्‍यूचुअल फंड में निवेश को लेकर खास बातचीत की है.

क्‍या म्यूचुअल फंड में सुरक्षित है फ्यूचर?

म्‍यूचुअल फंड सही है, ये संदेश लोगों के बीच घर कर चुका है. बड़ी संख्‍या में लाेग SIP में पैसे लगा रहे हैं. रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बन रहे हैं. लेकिन इन सबके बीच एक सवाल ये है कि बाजार के उतार-चढ़ाव के बीच क्‍या म्‍यूचुअल फंड्स में फ्यूचर सुरक्षित है.

इस सवाल पर नवनीत मुनोत कहते हैं, 'म्‍यूचुअल फंड में निवेश करना बिल्‍कुल सुरक्षित है, अगर आप अनुशासित तरीके से निवेश करें, अगर आप SIP के जरिये निवेश करें तो इसमें फ्यूचर बिल्‍कुल सुरक्षित है.'

उन्‍होंने कहा, 'बाजार में अस्थिरता (Volatility) रहेगी, लेकिन आप अगर अनुशासित तरीके से निवेश करेंगे तो आप नुकसान उठाने की बजाय, बाजार के उतार-चढ़ाव का फायदा उठा सकते हैं.'

कम समय में तगड़े रिटर्न की चाहत हो तो?

शेयर बाजार में बहुत से लोगों को कम समय में मोटे-तगड़े रिटर्न की चाहत होती है, ऐसे लोगों के लिए क्‍या सलाह है? इस सवाल पर नवनीत कहते हैं, 'स्‍टॉक मार्केट ऐसी जगह है, जहां असंयमित लोगों का पैसा, संयमित लोगों के पास शिफ्ट होता है. कहा ही गया है कि सब्र का फल मीठा होता है. तो यहां भी ये बात लागू होती है. यहां बहुत संयम वाले लोग बहुत पैसा बना लेते हैं. जिनमें संयम नहीं होता है, जिन्‍हें बहुत कम समय में मोटा पैसा बनाना होता है, उनका पैसा शिफ्ट हो जाता है.'

AMFI चीफ ने बताया निवेश का STP फॉर्मूला

मुनोत ने कहा, 'वेल्‍थ क्रिएशन का एक ही फॉर्मूला है- साउंड इन्‍वेस्‍टमेंट (S)+ टाइम (T) + पेशेंस (P). सही निवेश, लंबा समय और संयम... अगर इन तीनों में से एक को भी आपने निकाल दिया तो वेल्‍थ क्रिएशन नहीं होगा.'

उन्‍होंने कहा, 'बाजार में अस्थिरता रहेगी, उतार-चढ़ाव रहेगा, मार्केट का ये नेचर ही है, ये पेंडुलम की तरह इधर-उधर होता रहता है, लेकिन इस फॉर्मूले पर बने रहना होगा. बाजार कोई साल 30% भी बढ़ेगा, कोई साल 5% भी. लेकिन हमारे पास 25-30 साल की म्‍यूचुअल फंड की जो हिस्‍ट्री है, उसमें हमने लंबे समय में मुनाफा ही देखा. सेंसेक्‍स की हिस्‍ट्री देखें, 1997 में 100 से शुरू हुआ और आज हम 64,000 पार पहुंच गए हैं.'

बाजार की चाल आगे कैसी रहेगी?

इंडियन शेयर मार्केट के फ्यूचर के सवाल पर नवनीत मुनोत ने कहा कि दुनिया के बाकी देशों की तुलना में यहां इन्‍वेस्‍टर्स का भरोसा बढ़ा है. उन्‍होंने अपने अनुभव शेयर करते हुए कहा, 'मैं राजस्‍थान में ब्‍यावर से आता हूं और काफी कम उम्र में मेरी रुचि स्‍टॉक मार्केट में हो गई थी. 80 के दशक में. तब सेंसेक्‍स 200-300 हुआ करता था. अगले 10 साल में मैंने देखा कि ये 3,000-4,000 पर चला गया. फिर कई सालों तक उतार-चढ़ाव रहे और ज्‍यादा रिटर्न नहीं बना. उसके बाद 20 सालों में हमने देखा कि ये 64,000 के पार पहुंच गया है.'

देश की इकोनॉमी लगातार ग्रो कर रही है. ये विकसित मार्केट है, वेल रेगुलेटेड मार्केट है. को-ऑपरेट सेक्‍टर, प्राइवेट सेक्‍टर, इकोनॉमिक ग्रोथ को प्रॉफिट में कन्‍वर्ट कर रहा है. छोटे इन्‍वेस्‍टर को भी अच्‍छा रिटर्न मिल रहा है.
नवनीत मुनोत

म्‍यूचुअल फंड सेक्‍टर को लेकर उन्‍होंने कहा, 'ये वो इंडस्‍ट्री है, जहां आप 500 रुपये की SIP के जरिये भी निवेशक वही रिटर्न हासिल कर रहा है, जो बड़े निवेशक. ऐसा दुनिया में कहीं नहीं हुआ. चीन में काफी इकोनॉमिक ग्रोथ हुआ है, लेकिन स्‍टॉक मार्केट इन्‍वेस्‍टर्स का उतना पैसा नहीं बना. उन्‍हें ज्‍यादा रिटर्न ही नहीं मिला. 30 साल में 1-2% सालाना का भी रिटर्न नहीं बना. इसकी तुलना में पिछले 25-30 सालों में हमारे फंंड्स के रिटर्न देख लीजिए. ऐसे में इन्‍वेस्‍टर्स का भरोसा और ज्‍यादा बढ़ेगा.'

BQ Prime हिंदी के ऑडिएंस के लिए स्‍वास्‍थ्‍य और समृद्धि की कामना करते हुए उन्‍होंने कहा कि म्‍यूचुअल फंड, निवेश का अच्‍छा तरीका है. आपके लाइफ गोल्‍स, फाइनेंशियल गोल्‍स को पूरा करने के लिए बेहतर जरिया है. SIP के जरिये अनुशासित तरीके से निवेश करते रहिए और वेल्‍थ बनाइए.

डिस्क्लेमर: शेयरों पर दी गई सलाह, एक्सपर्ट की निजी राय है. निवेश से जुड़ा कोई भी फैसला लेने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से संपर्क करें.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT