ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

UP Budget: FY25 के लिए 7,36,437 करोड़ रुपये का बजट पेश, महाकुंभ के लिए 100 करोड़ रुपये, अयोध्या में वैदिक एंड रिसर्च सेंटर को फंड

वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि उनका बजट युवा, महिलाओं, किसानों और गरीबों विकास के लिए समर्पित है.
NDTV Profit हिंदीNDTV Profit डेस्क
NDTV Profit हिंदी06:04 PM IST, 05 Feb 2024NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
NDTV Profit हिंदी
Follow us on Google NewsNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदीNDTV Profit हिंदी

उत्तर प्रदेश के वितमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने FY25 के लिए 7,36,437 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है. इसमें 24,863.57 करोड़ रुपये की नई योजनाएं शामिल हैं. उत्तर प्रदेश बजट में राजकोषीय घाटा 86,530.51 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है, जो साल के लिए GDP का 3.46% है.

सुरेश कुमार खन्ना ने अपने भाषण की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नारे 'सबका साथ सबका विकास' के साथ की. उन्होंने ये भी कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार का बजट युवा, महिलाओं, किसानों और गरीबों विकास के लिए समर्पित है.

अपने बजट भाषण में उन्होंने बताया कि राज्य के बुनियादी ढांचे में सुधार से उद्योगों को बहुत फायदा हुआ है. राज्य में आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर समिट के माध्यम से 40 लाख करोड़ रुपये से अधिक के MoU हुए हैं. इन एग्रीमेंट्स के चलते लगने वाले उद्योगों में 1.1 करोड़ लोगो को रोजगार मिलेगा. उन्होंने बताया कि सुधारों के चलते व्यापार करने की रैंकिंग में उत्तर प्रदेश कभी 14वें स्थान पर था, लेकिन आज ये दूसरे स्थान पर आ गया है.

बजट में कृषि क्षेत्र के लिए तीन योजनाओं का ऐलान हुआ. राज्य कृषि विकास योजना के लिए 200 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया. इसके अलावा यूपी एग्री योजना के लिए भी 200 करोड़ रुपये आवंटित किए गए.

महिला पेंशन योजना के तहत पात्र लाभार्थियों को 500 रुपये प्रति माह की जगह 1,000 रुपये प्रति माह पेंशन मिलेगी.

चित्रकूट में बनेगा महर्षि वाल्मीकि कल्चरल सेंटर

श्रृंगवेरपुर के निषाद राज गुहा कल्चरल सेंटर को बनाने के लिए 14.68 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. आजमगढ़ के हरिहरपुर में संगीत कॉलेज के लिए 11.79 करोड़ रुपये और चित्रकूट में महर्षि वाल्मीकि कल्चरल सेंटर के लिए 10.53 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं.

बजट में UP सरकार ने महाकुंभ 2025 (Mahakumbh 2025) का आयोजन करने के लिए 100 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव किया था. इसके साथ अयोध्या (Ayodhya) में अंतरराष्ट्रीय रामायण और वैदिक रिसर्च सेंटर के लिए फंड दिए गए हैं.

खन्ना ने कहा कि इसके अलावा अयोध्या में इंटरनेशनल रामायण और वेदिक रिसर्च इंस्टीट्यूट के लिए 10 करोड़ रुपये का प्रस्ताव किया गया है. उन्होंने अपने भाषण में बताया कि जनवरी से अक्टूबर 2023 के बीच उत्तर प्रदेश में 37.9 करोड़ से ज्यादा पर्यटक आए. इनमें से भारतीय पर्यटकों की संख्या करीब 37.77 करोड़ और विदेशी पर्यटक 13.43 लाख रहे.

हर साल की तरह इस बार भी अयोध्या में बड़े स्तर पर दीपोत्सव का आयोजन किया गया. इस मौके पर राम की पैड़ी पर 22,23,000 दीप जलाकर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया गया.

पर्यटन पर सरकार का जोर

अयोध्या, वाराणसी, चित्रकूट, लखनऊ, विध्यांचल, प्रयागराज, गोरखपुर, मथुरा, सारनाथ और अन्य मुख्य पर्यटक जगहों को सुंदर बनाने और पर्यटन को बढ़ावा देने के काम किए जा रहे हैं. मुख्यमंत्री टूरिज्म डेवलपमेंट पार्टनरशिप स्कीम के तहत उत्तर प्रदेश की हर विधानसभा में एक पर्यटक स्थल विकसित करने की योजना है.

खन्ना ने कहा कि पिछली सरकारों ने सांस्कृतिक विरासत को नजरअंदाज किया. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उन्हें विकसित करने का काम किया जा रहा है.

NDTV Profit हिंदी
फॉलो करें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT